Love Poetry in Hindi | 45+ प्यार पर कविता हिंदी में (2022)

Best Love Poetry in Hindi for lovers : दोस्तों मोहबत दुनिया में सबसे खूबसूरत अहसास होता है। प्यार में बहुत ताकत होती है। प्यार में इंसान कुछ भी कर सकता है। जिस इंसान से हम प्यार करते हैं उसे कभी भी हम दुखी नहीं देख सकते। उसको खुश करने के लिए या अपने प्यार का इजहार करने के लिए कभी-कभी हम लव पोएट्री, शायरी, कविता आदि का प्रयोग करते हैं।

दोस्तों अगर आप भी किसी सक्श से बेइन्तहा मोहब्बत करते हो तो आपके लिए हमने इस पोस्ट लव पोएट्री में love poetry in hindi for girlfriend, बेहद रोमांटिक कविता, hindi poetry on love, romantic hindi poem, short love poetry in hindi का बेहतरीन कलेक्शन साझा किया है। जिसकी मदद से आप अपने लवर को आसानी से मन सकते हैं।

Love poetry in hindi

love poetry in hindi

पहले वो एक तुम्हारी तस्वीर बटुए में रहती थी
अब मेरे स्मार्टफोन में तुम्हारे सिवा कोई नहीं है

पहले वो तुम्हारी यादें, मुलाकातें दिलों में छपती थी
अब मेरे फोन की मेमोरी कार्ड में बसती हैं !

पहले रहता था तेरे खत का इंतजार
अब तो बस चैटिंग से होने लगा है प्यार !


आज भी ख़याल तेरा सोने नहीं देता
आज भी मुझे किसी का होने नहीं देता!

आंखों में आंसू लिए देखूं तेरी फोटो पर
तेरा हंसता चेहरा मुझे रोने नहीं देता!

काश धुँए की तरह तेरी यादों में उड़ जाऊं
हस्ती मिटा कर खुद की तुझ से जुड़ जाऊं!

एक बार अपनी बाहों में सुला तो सही
झूठा ही मगर प्यार दिखा तो सही!


तेरी खुशबू को ढूंढोगे कहां
यह शायद गुम हो गई कहीं
हंसती खेलती सारी खुशियां
ना जाने कहां यह दौड़ गई !

वैसे तो अब तक महक रही
कुछ निर्मल कोमल साधारण
अब गुमशुदा से गुमशुदा हुई
जाने ना कोई क्या कारण !

शायद कोई खुशबू चुरा रहा
जो सिंचित फूल किया तुमने
कोई पल पल उसको तोड़ रहा
क्यों ना आभास किया तुमने

अब मुरझाकर कश खा जाए
कुछ ऐसी हालात होती है
बेखबर वह खुद से हो जाए
ना अब हंसती ना रोती है!

Love poetry in hindi for girlfriend

love poetry hindi11

आज तुम रंग दो अपने रंग में कोरा हूँ संवर जाऊँ
होठों पर होंठ रख दो कहीं प्यास से ना मर जाऊँ

चूम कर बदन को होंठो से अपने गुलाबी कर दो,
तेरे होंठो की तलब है छू कर मुझे श़राबी कर दो।

मत चूमों ग़ुलाब की कलियों को जलन होती है,
आहिस्ता चूमना‌‌ मुझे ‌ बदन में ‌ सिहरन होती है।

मैं दबाऊँ तो बेतहाशा दर्द और थोड़ी हरारत है,
तुम दबाओ तो लुत्फ़ होंठो ‌ कैसी की श़रारत है।

सुबह आँख खुलते ही तुम मदहोश कर देते हो,
कुछ बोलूँ पर चूम कर लब ख़ामोश कर देते हो।


एक चांदनी रात हो
और वह मेरे साथ हो
सारी दुनिया भूल कर
अपनी सांसो को आत्मसात करें
आओ मिलकर प्यार करें

उनके साथ कुछ हसीन पलों को बुने
लेकर हाथों में उनका हाथ
अपने दिल के जज्बातों को बयां करें
कुछ इस तरह से उनके सामने
हम अपने प्यार का इजहार करें..!!


महकता एहसास हो तुम
कोई फूल गुलाब हो तुम
ठंडक का फरमान हो तुम

कोई उजला चांद हो तुम
क्षितिज सी अनंत हो तुम
किसी ध्रुवतारे सी हो तुम

इनायतों का अंबार हो तुम
मोहब्बत का दीदार हो तुम
पतझड़ की बाहर हो तुम

प्यासे दिल का जाम हो तुम
धधकती हुई आग हो तुम
सूखे में बरसात हो तुम

धड़कनों की तार हो तुम
इस नाचीज की जान हो तुम..!!


2 Line love poetry in hindi

love poetry in hindi for girlfriend

आती है याद तेरी ओ साजना मेरे
भूलू मैं ना कभी भी ओ रांझणा मेरे !

मेरी आत्मा तो तेरी हो चुकी है
तू कर स्वीकार मुझको ओ प्रियतमा मेरे !

मेरी राह तुम हो मंजिल भी तुम ही हो
अब तो सुन ले पुकार ओ माही मेरे !


मैं चलना चाहती हूं तुम्हारे साथ कुछ इस तरह
की अगर गिरूं तो उठने की जरूरत ही ना हो

मैं खिलना चाहती हूं तुम्हारी खुशबू से कुछ इस तरह
कि मैं मुरझाऊं तो इत्र की जरूरत ही ना हो

मैं सजना चाहती हूं तुम्हारे उन अल्फाजों से इस तरह
कि मैं पहनूं तो गहनों की जरूरत ही ना हो

मैं बंधना चाहती हूं तुम्हारी आत्मा से कुछ इस तरह
की जिस्मों को बांधने की जरूरत ही ना हो!


चंदन तू तो तेरी खुशबू मैं हूं
बंधन तू तेरा रिश्ता में हूं

सागर सा गहरा शीतल तू
मैं तेरी भीनी भीनी धारा हूं

दर्द है तू तेरी राहत में हूं
प्यार है तू तेरी चाहत में हूं

दुनिया में सबसे सच्चा तू
मैं तेरी पावन मूरत हूं!

Best love poetry in hindi

love poetry in hindi status

यह बात मुझको ले आती है परेशानी में
जिसको चाहा वह नहीं है मेरी कहानी में !

ए कलमकार तेरी मुझसे दुश्मनी क्या है
मेरा किरदार ही क्यों मरता है कहानी में !

मोटिवेशनल कविता
मॉर्निंग प्रेयर फ़ोर स्कूल
प्रकृति पर कविता


बस चंद दिनों की बात हैं
फिर मैं तेरी तू मेरा है

अगर तू जो मिले सोचूं ऐसा
मेरे मन से दूर अंधेरा हो

तुम रोशन गलियां हो मेरी
हर सुबह तेरा चेहरा देखूं

तुम हो करीब मेरे इतने
बस देख तुझे अखियां सेकूं

हर राह तू मेरे संग ही चले
मैं गिरूं अगर तो तू संग दे

अरमान तेरी मैं रूह छूऊं
तेरी नजर छुए मेरा अंग-अंग दे!


बहुत से ख्याल तेरे मेरे सिरहाने रख सोता हूं
अनजान होकर भी तुझसे, तेरे करीब होता हूं

पाता हूं खुद को अक्सर तेरे खयालों में
तेरी जुल्फों में तेरी आंखों के प्याले में!

Gulzar poetry on love in hindi 

love poetry in hindi 2 lines

यूं तो कोई वजह नहीं
मेरे मुस्कुराते रहने की
पर तेरी भोली सूरत देख
मैं अक्सर खुश हो जाता हूं!

यूं तो मेरी औकात नहीं
रईस दुनिया के सामने खड़े होने की
पर मेरे हाथ में तेरा हाथ आते ही
मैं संसार में सबसे धनी हो जाता हूं !


यूं तो चलती हुई राहों की आदत है
चलते चलते मुझमें ठहर जाने की

पर तेरी एक झलक से माही
मैं हवाओं में बहकर तुझसा हो जाता हूं!


यूं तो तारों की टीमटीमाहट से
आहट होती है तेरे मुस्कुराने की
पर रातों में नींद खुलते ही
मैं तेरे जैसा ईद का चांद हो जाता हूं!

Love poetry in hindi for wife

love poetry in hindi for husband

तुम मान लो कि मेरी मोहब्बत है पूरी
और तुम्हारी आज भी अधूरी है
मैं चाहता हूं दिल से तुम्हें मगर
लगता है तुम्हारी मजबूरी है!

तुम्हें किसी और से मोहब्बत है
बात वही पूरी है तुम खुश रहो
हमारा दुखी होना जरूरी है!

कभी तेरी मोहब्बत मेरी ताकत थी
आज मेरी सबसे बड़ी कमजोरी है
जा तू हो जा किसी और की मगर
मेरे ख्वाबों में तू हमेशा मेरी है !


तु मुझमें है ऐसा जैसे
हवा का बादलों के संग
रजनी का भोर से मिलन

रूठो में अपनों सा मन
जैसे नदी का लहरों से संगम!


ऐसा पल एक हमने गुजारा नहीं
कोई कह दे कि तुमको पुकारा नहीं

जिंदगी भर रही है यह कसक ही हमें
हम कभी भी कहीं पर नहीं रह सके
हर पहर हर दिशा एक जैसी दशा
हम हमारे ही अंदर नहीं रह सके!

देशभक्ति कविताएं
पिता पर मार्मिक कविता
शादी की सालगिरह मुबारक मैसेज

Poetry about love in hindi

love poetry in hindi for wife

तुझसे खूबसूरत मुझे कोई ना लगे
नाराजगी में तुम्हारी हंसी
जाने क्यों इतनी प्यारी लगे!

मालूम ना था आवाज तुम्हारी
घर कर जाएगी मेरे दिल में
तुम से 1 दिन की भी दूरी
जाने क्यों मुझसे सितम गढ़ लगे !


गले से लिपटकर न जावो सनम
खून के आँसू हमकों न रुलावो सनम
दर्द दिल का हमारे अब बढ़ने लगा है
दर्द से दिल मेरा तड़पने लगा है!

गम को छुपाकर न मुस्कराओ सनम
न करो हमसे आज फिर वादा झूठा
अब तलक तेरा है हर वादा टूटा

अश्क आँखो के आँखो में न छुपावो सनम
माना कि दिल मे तेरे प्यार भरपूर है
ऐ राज माना कि हालात से तू मजबूर हैं
जुदाई में कैसे जीते हैं मुझे भी सिखावो सनम
गले से लिपटकर न जावो सनम!


हाथ थाम कर भी तेरा सहारा न मिला
में वो लहर हूँ जिसे किनारा न मिला

मिल गया मुझे जो कुछ भी चाहा मैंने
मिला नहीं तो सिर्फ साथ तुम्हारा न मिला

वैसे तो सितारों से भरा हुआ है आसमान मिला
मगर जो हम ढूंढ़ रहे थे वो सितारा न मिला

कुछ इस तरह से बदली पहर ज़िन्दगी की हमारी
फिर जिसको भी पुकारा वो दुबारा न मिला!


आई तुम इस दुनिया में जब,
है लायी एक बहार हो
उन्ही बहरों में खिलते फूल,
उन फूलों का गुलज़ार हो!

खिलते हुए उस गुलशन में,
फूलों की सुनहरी हार हो
एक हसी से खिलता दिन,
उस दिन का पहला आसार हो!

साँसों से आपकी आये जो ताज़गी,
उस ताज़गी का भरमार हो
आँखों की गहराई में अब,
संज्योती सारा संसार हो!

Love poem in hindi for bf

poetry about love in hindi

आज तेरे नाम लिखा प्यार का पैगाम
मेरा ये दिल मेरा सब जहान
आज तेरे नाम लिखा अपना हर मुकाम
चाहत का अंजाम !

आज तेरे नाम लिखा
तू ही मेरी ज़िन्दगी तू ही मेरी बंदगी
मैंने अपना पूरा जीवन आज तेरे नाम लिखा !


उसकी अहमियत है क्या, बताना भी ज़रूरी है
है उससे इश्क़ अग़र तो जताना भी ज़रूरी है,

अब काम लफ़्फ़ाज़ी से तुम कब तक चलाओगे
उसकी झील सी आंखों में डूब जाना भी ज़रूरी है,

दिल के ज़ज़्बात तुम दिल मे दबा कर मत रखो
उसको देख कर प्यार से मुस्कुराना भी ज़रूरी है,

उसे ये बारहा कहना वो कितना ख़ूबसूरत है
उसे नग्मे मोहब्बत के सुनाना भी ज़रूरी है,

किसी भी हाल में तुम छोड़ना हाथ मत उसका
किया है इश्क़ गर तुमने, निभाना भी ज़रूरी है,

सहर अब रूठना तो इश्क़ में है लाज़मी लेकिन
कभी महबूब गर रूठे तो मनाना भी ज़रूरी है!


मेरे जिस्म की रूह हो तु
बेखयाली में भी खयाल हो तुम
नींद में सपने हो तुम,

गैरों में अपने हो तुम
दिल की धड़कन हो तुम
हर मुस्कुराहट में बसते हो तुम.

कभी हसाते हो तुम
कभी रुलाते हो तुम
हर पल याद आते हो तुम!


कोई पूछे तो हम
वी आर जस्ट फ्रेंड्स बताया करते हैं
सच क्या है हमें भी पता नहीं,
हम बस दोस्त है ये यकीन
एक दूसरे को दिलाया करते हैं!

5 साल हो गए हमारी दोस्ती को फिर भी
हम बस आज भी हाथ मिलाया करते हैं!

हक़ तो कोई नहीं होता हमारा किसी पर
ये जानते हुए भी हम एक दूसरे पर
हक़ जताया करते हैं,

कभी कभी मजाक मजाक में हम
एक दूसरे को हसबैंड
वाइफ भी बुलाया करते हैं!

Cute love poems in hindi

love poems in hindi by gulzar

कैसी उठी है दिल में पुकार
दिल चाहता है करना तुमसे प्यार

दिल के जज्बात किसको जाकर बताऊं
दिल चाहता है सिर्फ तुमको बताऊं

तुम्हारे चेहरे में छिपा है कोई नगमा
जिसे पढ़कर दिल पर कयामत है आई

लाइफ में मेरे लिखिए खुशियां तुझसे ही
शायद खुदा ही है तू कोई रहमत है नई !


अब तो वो दिखाई भी कम देती हैं,
शायद साल में एक या दो बार

लेकिन मैं उसे कल भी प्यार करता था,
मैं उसे अब भी प्यार करता हूं,

न जाने कब तक चलता रहेगा,
ऐ मेरा एक तरफा सफर!


तू मुझे छोड़ दे मैं तुझे छोड़ दूँगा
मगर दिल का रिश्ता कैसे तोड़ दूँगा

कभी तुझसे मुझसे पूछेगा ये जमाना
करेगा क्या बता मुझको भी उनसे बहाना
भला कैसे मै तुझसे मुँह मोड़ लूँगा

आएगी जब जब मेरी याद तुझको
सम्हालेगा ऐ राज कैसे बता दे तू खुद को
खूब कहता फिरता था बिन उसके जी लूँगा!


तु सर्द में गिरता हुआ
ओस की बूंदों सा बन जा,
मैं कमल के पत्तों सी फैली हुई
तुझे खुद में समा लूं,

तु रात में जगमगाता हुआ
वो एक तारा बन जा,
जिसे ध्रु कहकर
मैं अपना बना लूं,

तेरा मेरे सपनों में आना
आ कर बिन कहे
मुझे चुपके से चूम जाना,

तेरा मेरे ख्वाबों में करीब आना
तेरे सांसों से मेरी सांसों का टकराना,
धीरे से मुझे जगाना,फिर दूर चले जाना,

यही तो है, मेरा खुद से खुद को,
तेरे प्यार को महसूस करना!

Love poems in hindi for boyfriend

love poetry in hindi for boyfriend

मेरे दिल का कोई ठिकाना ही नही है
करता हूँ इंतजार उनका जिनको आना ही नही है!

रूठ जाता हूँ सोचकर शायद वो तरस खायेगा
हो न हो एक रोज प्यार वो जतायेगा
खबर है मुझे की उसे मुझे मनाना ही नही है,

कुछ अजीब सा अब दीवानगी का आलम है
जो दर्द देता है वही अब देता मरहम है
ऐ राज क्या तुझे प्यार जताने आता ही नही है !


मुझे अपने हर दर्द का हमदर्द बना लो
दिल में नहीं तो ख्यालों में बैठा लो
सपनों में नहीं तो आंखों में सजा लो
अपना एक सच्चा अहसास बना लो,

मुझे कुछ इस तरह से अपना लो,
कि अपने दिल की धड़कन बना लो,
मुझे छुपा लो सारी दुनिया ऐसे,
कि अपना एक गहरा राज बना लो,

करो मुझसे मोहब्बत इतनी,
अपनी हर एक चाहत का अंजाम बना लो,
ढक लो मुझे अपनी जुल्फों इस तरह,
कि मुझे अपना संसार बना लो!


जब बहारों ने बाहों में भर के चूमा तो,
मौसम गुलज़ार नज़र आया
जब – जब देखा चाँद को,
मेरा प्यार नज़र आया!

तेरे प्रेम की अभिलाषा में मैंने,
तुझे अपनों में अमर किया
तेरी एक झलक खातिर,
अनगिनत गैरों समर किया!

तव शीतल पूनम स्वभाव का,
प्रभाव मन को भाया
जब-जब देखा चाँद को,
मेरा प्यार नज़र आया!


कभी दो हमें भी यह मौका,
सजदे में तेरे झुक जाएं हम,
लेके हाथ तेरा हाथों में,
प्यार की चूड़ियाँ पहनाएं हम

कभी दो हमें भी यह मौका,
ज़ुल्फों की छाँव में रहने का,
तेरे कानों में गुफ़्तगू कहने का,
होठों से होठ मिलाने का,

तेरी बाहों में सो जाने का,
रात में तेरे ख्वाबों में जी लेने का,
कभी दो हमें भी यह मौका,
कभी दो हमें भी यह मौका!

मैं बादल बन जाऊं
अगर तुम आसमां बन जाओ तो

मैं बारिश बन जाऊं अगर
तुम बारिश की बूंद बन जाओ तो

मैं फूल बन जाऊं अगर
तुम तितली बन जाओ तो

मैं चकोर बन जाऊं अगर
तुम चंदा बन जाओ तो

मैं रात बन जाऊं
अगर तुम चांद बन जाओ तो

मैं वह सब कुछ बन सकता हूं
बस तुम उसमें शामिल हो तो..!!

Short love poem in hindi for girlfriend

love poem in hindi for bf

भीड़ कैसी भी हो नही खोउंगा मैं
तेरा ही तो हूँ तेरा ही होऊँगा मैं !

फूल से भी नाज़ुक है मुश्कान तेरी
खुदा की कशम तू ही है जान मेरी
बनाकर के अपना तुम्हे
सपने सजोउंगा मै !


तू इजाजत दे या न दे,
तेरी इबादत करता रहूंगा,
तू प्यार करे या ना करे,
मैं इजहार हर लम्हा करता रहूंगा!

तू मिले या ना मिले कोई शिकवा नहीं,
बस तेरी यादों में तुझसे मिलता रहूँगा,
दिल में ना बस सका मै तेरे,
पर तेरे ख्यालों में जरूर आऊंगा!

तू इजाजत दे या न दे,
तेरी यादों को ही सहारा बनाऊंगा,
तू परवाह करें या ना करें पर
मैं आखरी सांस तक परवाह करता रहूंगा!

तू जिस्म की चाहत नहीं,
मेरी रूह की इबादत है,
जितने फासले है तेरे मेरे दरमियां,
उतनी ही शिद्दत से मोहब्बत करता रहूंगा!
तू इजाजत दे या न दे,
तेरी इबादत करता रहूंगा!


जैसे राधा का श्याम से,
सीता का राम से,
मुझे भी तुझसे बेपनाह प्यार है!

जैसे भंवरे को फुलो से,
भगवान को भक्तो से,
मुझे भी तुझसे बेपनाह प्यार है!

जैसे मीरा का कान्हा से,
जैसे शिव का पार्वती से,
मुझे भी तुझसे बेपनाह प्यार है!

जैसे सुर्य को किरण से ओंस को बुंद से
जैसे बादल को बारिश से,
आंखो को काजल से,

जैसे नयनो का पलको से,
मांग का सिंदूर से,
जैसे पेन का स्याही से,
मुझे भी तुझसे बेपनाह प्यार है!


जिंदगी से खफा तकदीर से तबाह हो गया हूं
तेरे जाने के बाद महफिल में तन्हा हो गया हूं
दिल से साफ और उनके पास था
तेरे किए कर्म के बाद में बर्बाद सा हो गया हूं।

तू ही दिल और धड़कन में मौजूद थी
तेरी याद दिल के हर कोने में महफूज थी

खुद को खोकर तुझे पाना चाहा था
इसीलिए जज़्बात मुझे रुला रहे हैं
तुझे पाने के लिए हर बंदिश को तोड़ा था
इसीलिए शायद अब हम पछता रहे हैं!


टूट चूका हूँ, बिखरना बांकी है,
बचे कुछ एहसास , जिनका जाना बांकी है,
चंद सांसें है, जिनका आना बांकी है,

मौत रोज मेरे सिरहाने खड़ी पूछती है
भाई आ जा अब क्या देखना बांकी है

दूरियां इतनी बढ़ जाएंगी, मालूम ना था
वो बाबू से बेवफा बन जाएंगे, मालूम ना था

हम उनके लिए पागल हो जाएंगे मालूम ना था
जो अपना चेहरा हमारी आँखों में देखते थे
वो आईना , बदल लेंगे मालूम ना था!

(Source : Funky Shorts)

Final words on love poetry in hindi


love poetry in hindi की यह शानदार पोस्ट आपको कैसी लगी दोस्तों हमें कमेंट करके जरूर बताएं। इस पोस्ट को अपनी गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड के साथ जरूर शेयर करना। अगर आप भी लव से रिलेटेड कोई पोएट्री या कविता देना चाहते हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं!

Couple DP
Black DP
Couple DP

Leave a Comment

Your email address will not be published.