ITI Full Form in Hindi (2022 Updated) | ITI कैसे करे ?

ITI full form in hindi : नमस्कार दोस्तों स्वागत है आज की इस खास पोस्ट में। हम आज आपको बताने जा रहे हैं। आईटीआई के बारे में, जैसे की आईटीआई की फुल फॉर्म क्या है? आईटीआई करने के फायदे? आईटीआई कैसे करे? आईटीआई फायदेमंद है या नहीं?

iti full form in hindi

आई टी आई कोर्स से सम्बंधित पूरी जानकारी हम आपको इस पोस्ट में देने वाले हैं तो दोस्तों बिना रुके इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े। ताकि आप भी अपने करियर को डेवलप कर सके।

आईटीआई की फुल फॉर्म ITI full form in hindi?

I- इंडस्ट्रियल
T- ट्रेनिंग
I institute

आईटीआई का पूरा नाम Industrial training institute होता है। इसका हिंदी में मतलब औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान होता है। आईटीआई कोर्स 8 वीं से लेकर 12वीं क्लास तक के स्टूडेंट कर सकते हैं।

आईटीआई कोर्स के फायदे Benefits of ITI course-

1 आईटीआई करने के बाद टरबाइन, रेलवे, मैकेनिकल क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं।
2 करने के बाद कम उम्र में ही जॉब लगने के अवसर अधिक होते हैं।
3 जब Ongc, Bhel जैसी गवर्नमेंट कम्पनियाँ भर्तियां निकालती हैं तो वे आईटीआई वाले छात्रों को भर्ती करते हैं।
4 आईटीआई का कोर्स पूरा होने के बाद आप विभिन्न गवर्नमेंट और प्राइवेट सेक्टरों में टेक्नीशियन की पोस्ट प्राप्त कर सकते हैं।
5 आईटीआई में एक्सपिरियंस होने के बाद इंजीनियर की पोस्ट भी प्राप्त कर सकते हैं।
6 आईटीआई का सर्टिफिकेट गवर्नमेंट जॉब सेलेक्शन में मदद करता है।
7 आईटीआई करने से आपको इलेक्ट्रिक, मकैनिक, फ़िटर आदि क्षेत्रों का प्रैक्टिकल ज्ञान हो जाता है।
8 आईटीआई आप सरकारी कॉलेज से फ्री में कर सकते हैं।

आईटीआई क्या है Wthat is ITI-

आईटीआई Industriyal training institute यानि की औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान। यह कोर्स खासकर उन लोगो के लिए है जो निम्न परिवार से है और जल्दी ही नौकरी पाना चाहते हैं। क्यकि इस कोर्स में ज्यादा पैसे की जरूरत नहीं होती है। आईटीआई को 8 वीं क्लास से लेकर 12 वीं क्लास तक के स्टूडेंट कर सकते हैं।

आईटीआई कैसे करे How to do ITI-

आईटीआई सरकारी और प्राइवेट दोनों कॉलेजों से किया जा सकता है। सरकारी कॉलेज के लिए आपको आईटीआई का एक पेपर देना होना है। और फिर जब रिजल्ट आता है तो आपके नंबर के आधार पर काउन्सलिंग होती है। काउन्सलिंग के बाद आपका कॉलेज और ट्रेड आवंटित की जाती है।

इसके साथ ही प्राइवेट कॉलेज से भी आईटीआई किया जा सकता है। इसमें किसी पेपर या मेरिट लिस्ट की जरुरत नहीं होती है।

आईटीआई के प्रकार Types of ITI-

1. Engineering trade (इंजीनियरिंग ट्रेड)- इस ट्रेड के अंतर्गत गणित, भौतिकी, तकनिकी की पढाई करनी होती है।
2. Non-Engineering trade (नॉन-इंजीनियरिंग ट्रेड)- इसमें नॉन-इंजीनियरिंग यानि की स्किल भाषा नॉलेज और अन्य सेक्टर विशेष के कोर्स आते हैं।

Engineering tradeNon-Engineering trade
Computer Operator & Programming Assistant (COPA)Carpenter (1 year)
Electrician (2 year)Pattern maker (2 year)
Mechanic (2 year) Plumber (2/3 year)
Fitter (2 year) Welder (gas & electric)
Stenography English (1 year) Forger & heart treaters (2 year)
Stenography Hindi (1 year) Mechanic agriculture (2 year)
ITI Automobile (2 year) Wireman (1 year)
ITI Surveypr (2 year) Plastic printing operator (1 year)
Mechanic Motor vehicle (2 year) Mechanic tractors (1 year)
Welder (1 year) book binders (1 year)
Diesel Mechanic (1 year) Cutting & swing (1 year)

आईटीआई करने के लिए पात्रता Eligibility for ITI-

1. कोई भी 8 वीं कक्षा से लेकर 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण की है, इस कोर्स को कर सकता है।
2. उम्मीदवार की आयु सीमा 14 वर्ष से अधिक और 40 वर्ष से काम होनी चाहिए।
3. उम्मीदवार के 10-12 वीं कक्षा में न्यूनतम 35% अंक होने अनिवार्य है।

आईटीआई के लिए एडमिशन प्रक्रिया Admission process for ITI-

आईटीआई में 8, 10 और बारहवीं के छात्र एडमिशन ले सकते हैं। आईटीआई फॉर्म भरने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना पड़ता है। जिसके फ्रॉम हर साल जुलाई में निकलते हैं। अगस्त में इसका पेपर होता है। इस पेपर में मेरिट के आधार पर पास होने पर आपको सरकारी कॉलेज और ट्रेड मिलती है।

सरकारी कॉलेज पढाई करने में आपका जितना भी पैसा लगता है। वह स्कॉलशिप के द्वारा वापस मिलता है। यानि की सरकारी कॉलेज में आपका कोई भी पैसा नहीं लगता है।

अगर आपका चयन सरकारी कॉलेज में नहीं हो पाता है तो आप किसी मान्यता प्राप्त प्राइवेट कॉलेज से भी आईटीआई कर सकते हैं। पर इसमें आपका लगभग 50000-60000 तक का इन्वेस्टमेंट करना होगा। इसलिए बेहतर यही है की आप सरकारी कॉलेज से ही आईटीआई करें।

आईटीआई के बाद उच्चतम शिक्षा के ऑप्शन Higher education options after ITI-

1. Apprentice (1 year)
2. CTI (Central Training Institute) (1 year)
3. Polytechnic or Diploma in engineering (2&3 year)

आईटीआई करने के बाद अगर आप इन तीनो में कोई एक कोर्स करते हैं तो आपके जॉब लगने का चांस और ज्यादा बढ़ जाता है। इन कोर्सो में आपको प्रैक्टिकल नॉलेज दिया जाता है।

(Source : Quick Support)

निष्कर्ष Conclusion-

दोस्तों आपको ITI full form in hindi की यह महत्वपूर्ण जानकारी कैसी लगी। उम्मीद करता हु आपको आईटीआई के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो गई है। इस पोस्ट से जुड़ा अगर कोई भी सवाल हो तो आप हमें कमेंट करके बताए। और दोस्तों पोस्ट को अन्य लोगो के साथ भी शेयर करे। ताकि उनको भी आईटीआई के बारे में पूरी जानकारी मिल जाए।

यह भी पढ़ें –

सुकन्या समृद्धि योजना
भारत के राष्ट्रपतियों की सूची
बुद्ध ग्रह के बारे में रोचक तथ्य
अरुण ग्रह क्या है, रोचक जानकारी?
ब्लैक फंगस क्या है, लक्षण और इलाज

Leave a Comment

Your email address will not be published.