49+ Dry Fruits Name In Hindi [+PDF] | मेवों के नाम हिंदी में (2022)

Dry Fruits Name In Hindi : दोस्तों ड्राई फ्रूट्स हमारे लिए बहुत लाभकारी होते हैं। इनका सेवन अधिकतर सर्दियों में किया जाता है। ड्राइ फ्रूट्स पोषणता के रूप में बहुत फायदेमन्द होते हैं। इनमे पाए जाने प्रोटीन विटामिन्स मिनरल्स 3 फैटी एसिड और अनसैचुरेटेड फैट शरीर को नई एनर्जी प्रदान करते हैं। और पाचन सम्बन्धी क्रियाओं को भी सक्रीय बनाते हैं। शरीर को स्वस्थ और पोषित रखने के लिए रोजाना कुछ मात्रा में ड्राइ फ्रूट्स यानी सूखे मेवे का सेवन ज़रूर करना चाहिए।

दोस्तों ड्राइ फ्रूट्स इतने लाभदायक हैं इसलिए हम आज की पोस्ट ड्राई फ्रूट्स में आपके साथ साझा कर रहे हैं Dry Fruits Name In Hindi and English, सूखे मेवों के नाम हिंदी में, ड्राई फ्रूट्स नाम और फोटो, list of dry fruits, all dry fruits name, dry fruits names and benefits in hindi तो दोस्तों इस पोस्ट को अंत तक पढ़े और सोशल मीडिया पर शेयर करें।

dry fruits name in hindi

ड्राई फ्रूट्स ( सूखे मेवों ) के नाम Dry Fruits Name In Hindi

baadamबादामAlmond
kajuकाजू Cashew
akhrotअखरोट Walnut
apricotखूबानी Apricot
muskmelon seedsखरबूज के बीज Cantaloupe Seeds
sahbalutशाहबलूत Chestnut
chiraunjiचिरोंजी Cudpahnut
khajoorखजूर Dates
sukha nariyalसूखा खोपरा Dry Coconut
munakkaमुन्नका Prunes
pistaपिस्ता Pistachio
chilgozaचिलगोज़ाPine Nuts
peanutsमूंगफली Peanuts
figsअंजीरDry Figs
kishmishकिशमिश Raisins
makhanaमखाने Lotus Seeds Pops

बादाम Almond

बादाम को सूखे मेवों का राजा कहा जाता है और इसके पौष्टिक गुणों के कारण इसका अधिक सेवन किया जाता है। बादाम वसा, एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और खनिजों से भरपूर होते हैं। बादाम के पेड़ में जो फल लगते हैं, उसके बीज को बादाम कहते हैं।

बादाम का पेड़ एक मध्यम आकार का पेड़ होता है और इसमें सुगंधित गुलाबी और सफेद फूल होते हैं। ये पेड़ पहाड़ी इलाकों में बहुतायत में पाए जाते हैं। बादाम के कई फायदे होते हैं। इसे खाने से बुद्धि तीव्र होती है। और सवास्थ्य अच्छा रहता है।

काजू Cashew –

यह एक प्रकार का पेड़ है जिसका फल सूखे मेवों के लिए बहुत लोकप्रिय है। काजू का पेड़ तेजी से बढ़ने वाला उष्णकटिबंधीय पेड़ है। काजू की व्यावसायिक और व्यापक रूप से केरल, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा और पश्चिम बंगाल में खेती की जाती है।

काजू के गुण यानी पौष्टिक गुण इतने अधिक होते हैं कि आयुर्वेद में काजू का इस्तेमाल कई बीमारियों के लिए किया जाता है। काजू दांत दर्द से लेकर दस्त, कमजोरी जैसी कई बीमारियों को दूर करने में मदद करता है।

काजू का आयात निर्यात भी एक बड़ा व्यवसाय है। काजू से कई तरह की मिठाइयां और शराब भी बनाई जाती है। अच्छी सेहत के लिए काजू बहुत आवश्यक होता है।

अखरोट Walnut –

अखरोट को नट्स की श्रेणी में सबसे ऊपर रखा गया है, क्योंकि यह फाइबर से भरपूर होता है। इसके पेड़ का वैज्ञानिक नाम जुगलस जीनस है। अखरोट के फल में एक ही बीज होता है।

अखरोट खाने से आपका तनाव और तनाव कम होता है और आपको अच्छी नींद भी आती है। अखरोट में मेलाटोनिन होता है, जो बेहतर नींद लेने में मदद करता है। वहीं, ओमेगा-3 फैटी एसिड रक्तचाप को संतुलित करता है।

अखरोट हड्डियों को मजबूती देता है। इसके अलावा भी अखरोट के कई सारे फायदे होते हैं। अधिकांशतः इसका सेवन ठंड में किया जाता है।

सभी फलों के नाम

खूबानी Apricot –

खुबानी एक गुठली वाला फल है। वानस्पतिक दृष्टिकोण से, खुबानी, आलूबुखारा और आड़ू सभी “प्रूनस” नामक एक ही पौधे के परिवार के फल हैं। खुबानी को अंग्रेजी में “Apricot” कहा जाता है। पश्तो में इसे “खुबानी” कहा जाता है।

खुबानी का पेड़ आकार में छोटा होता है। खुबानी का वैज्ञानिक नाम पुरुनस अर्मेनियाका है। खुबानी में पोटैशियम, विटामिन सी, बी1 और बी2, ई और बीटा-कैरोटीन होता है, जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है

इसके सेवन से आंखों की बीमारियों और लीवर में भी फायदा होता है। खुबानी खाने में हलकी खट्टी और मीठी होती है।

खरबूज के बीज Cantaloupe Seeds –

मेवे खरबूजे के बीजों की गुठली से बनाए जाते हैं, जिनका इस्तेमाल कई तरह की मिठाइयों में किया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार खरबूजा कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए और विटामिन सी से भरपूर होता है।

इन गुणों के कारण इसके सेवन से शरीर को काफी लाभ मिलता है। लेटिन भाषा में खरबूजे का नाम (Cucumis melo Linn.) कुकुमिस मेलोलिन है।

शाहबलूत Chestnut –

ओक के पेड़ के एक नट को शाहबलूत कहा जाता है। यह क्वार्कस या लिथोकार्पस जेनेरा नाम के परिवार में है। शाहबलूत में उच्च पोषण मूल्य होता है जो स्वस्थ शरीर को बनाए रखने में मदद करता है।

टैनिन और फ्लेवोनोइड अपने प्रमुख विटामिन, प्रोटीन, फाइबर और खनिज सामग्री के साथ समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। एंटीऑक्सिडेंट और असंतृप्त वसा चयापचय को विनियमित करने में मदद करते हैं और इस प्रकार बेहतर स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं।

यह पाचन सम्बन्धी क्रियाओं में लाभकारी होता है। मधुमेह में सहायक होता है, इसके साथ ही दिल और दिमाग के लिए भी बहुत अच्छा होता है।

चिरोंजी Cudpahnut –

चिरौंजी का वानस्पतिक नाम बुकानिया कोचिनचिनेंसिस (Buchanania cochinchinensis ) है। चिरौंजी का पेड़ लगभग 12-18 मीटर ऊंचा होता है और साल भर हरा-भरा रहता है।

इसकी छाल बहुत मोटी और खुरदरी होती है। इसके फल अंडाकार और 8-12 मिमी के गोलाकार होते हैं। इन फलों को तोड़कर जो गुठली अंदर से निकल जाती है उसे चिरौंजी कहते हैं।

चिरौंजी स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। यह सर्दी-खांसी से राहत दिलाने के अलावा गठिया और यौन क्षमता से जुड़े रोगों के इलाज में भी उपयोगी है।

सब्जियों के नाम हिंदी में

खजूर Dates –

खजूर को छुहारे के नाम से भी जाना जाता है खजूर एक तरह का ड्राई फ्रूट है। खजूर कैल्शियम मैग्नीशियम और कॉपर का भंडार होता है। मानव शरीर में यह कोलेस्ट्रोल को कम करके कब्ज को दूर करती है।

इसमें कई विटामिन और मिनरल पाए जाते हैं, इसके अलावा इसमें घुलनशील फाइबर की अच्छी मात्रा होती है जो पाचन तंत्र को मजबूत करने में मदद करता है।

आंखों की रोशनी बढ़ाने और हड्डियों को मजबूत बनाने में खजूर फायदेमंद होता है। खजूर में पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। यह स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

खाने में यह मीठा होता है। इसमें और भी कई सारे औषधिय गुण होते हैं। इसे अपनी लाइफ में जरूर शामिल करे ।

सूखा खोपरा Dry Coconut –

सूखे नारियल में बादाम, अखरोट और मिश्री रोज खाने से स्मरण शक्ति बढ़ती है। इन समृद्ध गुणों के अलावा सूखा नारियल खाने से हमारी सेहत के लिए भी कई फायदे होते हैं।

जो शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है। सूखा नारियल खाने से हमारे शरीर की हड्डियां मजबूत होती हैं। इसे खाने से त्वचा, लिगामेंट्स, टेंडन्स और बोन टिश्यू मजबूत होते हैं।

दरअसल, ये टिश्यू मिनरल्स से भरपूर होते हैं और इनकी कमी शरीर के किसी भी हिस्से को नुकसान पहुंचा सकती है।

मुन्नका Prunes –

सूखे मेवे हमारी सेहत के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। इसमें अच्छी मात्रा में पोषक तत्व और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो शरीर को पोषक तत्व प्रदान करते हैं।

जैसा कि आप जानते हैं, सूखे अंगूरों को सूखे अंगूरों में बनाया जाता है। सूखे अंगूरों का स्वाद बहुत ही मीठा और ठंडा होता है। सूखे अंगूर काले अंगूरों से तैयार किए जाते हैं जिन्हें पेड़ पर ही सुखाना होता है।

इसमें मौजूद फाइबर और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाचन तंत्र को भी मजबूत करते हैं। इसके अलावा गैस की समस्या और यूरिनरी ट्रैक्ट में रुकावट भी समस्याओं को दूर भगाती है।भीगे हुए सूखे अंगूरों को खाली पेट खाने से वजन कम किया जा सकता है। इसके अंदर पाए जाने वाले ग्लूकोज और फ्रुक्टोज को लेने से वजन नियंत्रित रहता है।

पिस्ता Pistachio –

पिस्ता एक प्रकार का ड्राई फ्रूट है। सूखे मेवे के रूप में इस्तेमाल किया जाने वाला पिस्ता न केवल एक बेहतरीन स्नैक है, बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है।

पिस्ता में फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, अमीनो एसिड, वसा होता है, जो न सिर्फ सिरदर्द, मुंह से दुर्गंध, डायरिया, खुजली में फायदेमंद होता है, बल्कि कमजोरी को दूर करने के साथ-साथ याददाश्त तेज करने में भी मदद करता है।

इसके फल का उपयोग सूखे मेवे जैसे पौष्टिक व्यंजन बनाने और औषधीय कार्यों में किया जाता है।

अजवायन खाने के फायदे

चिलगोज़ा Pine Nuts –

पाइन नट्स, जिसे चिलगोजा या नियोज़ा भी कहा जाता है, विटामिन, फाइबर और प्रोटीन से भरपूर होते हैं। अगर आप रोजाना चिलगोजे का सेवन करते हैं तो यह शरीर के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है.पाइन नट्स को सुपरफूड कहा जाता है।

शरीर में कमजोरी या प्रोटीन और विटामिन की जरूरत होने पर डॉक्टर अक्सर नट्स खाने की सलाह देते हैं।

मूंगफली Peanuts –

मूंगफली में पर्याप्त मात्रा में आयरन, कैल्शियम और जिंक पाया जाता है। इसे खाने से ताकत भी मिलती है। मूंगफली विटामिन ई और विटामिन बी6 से भरपूर होती है।मूंगफली में विटामिन, मिनरल, एंटीऑक्सीडेंट, फैटी एसिड समेत कई अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो दिल और नसों के रोगों को दूर करने में मददगार होते हैं।

अल्जाइमर के मरीजों के लिए मूंगफली के कई फायदे हैं। मूंगफली त्वचा से कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायक होती है। यह पेट को भी ठीक करता है।

अंजीर Dry Figs –

अंजीर (अंग्रेजी नाम Fig, वानस्पतिक नाम: “फिकस कैरिका”) एक पेड़ का फल है जो पके होने पर गिरता है। यह शहतूत परिवार का सदस्य है। इसके फल हल्के पीले रंग के होते हैं,

जबकि पकने पर गहरे सुनहरे या बैंगनी रंग के हो सकते हैं। सूखे मेवों में चीनी की मात्रा लगभग 62 प्रतिशत और ताजे पके फलों में 22 प्रतिशत होती है। इसमें कैल्शियम और विटामिन ‘ए’ और ‘बी’ भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

एक अंजीर के पेड़ की उम्र लगभग 100 साल होती है। यह हिमालय और शिवालिक क्षेत्रों में बहुतायत में पाया जाता है।

पक्षियों के नाम हिंदी में

किशमिश Raisins –

किशमिश एक प्रकार का ड्राई फ्रूट है। इसे अंगूरों को सुखाकर बनाया जाता है। इसमें वे सभी गुण होते हैं जो अंगूर में पाए जाते हैं। किशमिश सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

खासकर सर्दियों में इसका सेवन कई बीमारियों से बचाता है। किशमिश में फॉस्फोरस, कैल्शियम और पोटैशियम पाया जाता है, जो बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास में मदद करता है।

भीगी हुई किशमिश वजन घटाने में कारगर होती है। इसमें आयरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम और फाइबर जैसे गुण होते हैं जो वजन घटाने में मददगार साबित होते हैं।

मखाने Lotus Seeds Pops –

मखाना पोषक तत्वों से भरपूर जलीय उत्पाद है, जो तालाबों, झीलों, दलदली क्षेत्रों के शांत जल में उगता है। मखाने के बीजों को भूनने के बाद इसका उपयोग मिठाई, नमकीन, खीर आदि बनाने में किया जाता है।

मखाने में कैलोरी बहुत कम होती है और फाइबर अच्छी मात्रा में पाया जाता है। इसका सेवन किडनी और दिल की सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

कमजोरी दूर होती है और शरीर में तुरंत एनर्जी आती है। मखाना कैल्शियम से भरपूर होता है, इसलिए यह हड्डियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है

FAQ –

Q.1 ड्राई फ्रूट्स कौन-कौन से होते हैं?
उत्तर- काजू बादाम किसमिस अखरोट पीता छुहारा अंजीर खाने नारियल मखाना और चिलगोजा और अन्य प्रकार के सूखे मेवे इन्हें ड्राई फ्रूट्स कहते हैं। यह शरीर को पोषण प्रदान करते हैं और स्वस्थ रखते हैं।

Q.2 ड्राई फ्रूट्स खाने से क्या-क्या फायदे होते हैं?
उत्तर- ड्राई फ्रूट्स वेट लॉस में लाभदायक होते हैं, पाचन में सहायक होते हैं, शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं, डायबिटीज में सहायक होते हैं, हड्डियों को मजबूत करते हैं इसके अतिरिक्त इसके और भी कई सारे फायदे हैं।

Q.3 ड्राई फ्रूट्स कब और कैसे खाएं?
उत्तर- क्योंकि इन की तासीर गर्म होती है इसलिए ड्राई फ्रूट को सर्दियों में खाया जाना चाहिए इन्हें कच्चे खाने के बजाय पानी में भिगोकर खाना चाहिए इससे बहुत अधिक मात्रा में प्रोटीन मिनरल्स होते हैं ऐसे में अगर किसी व्यक्ति को किडनी या कोलेस्ट्रोल से संबंधित कोई बीमारी है तो उसे डॉक्टर की सलाह लेकर ही इसका सेवन करना चाहिए

Q.4 सबसे ताकतवर ड्राई फ्रूट्स कौन सा होता है?
उत्तर बादाम क्योंकि इसमें प्रोटीन की मात्रा सर्वाधिक होती है इसके साथ ही से मैग्नीशियम भी पाया जाता है एक दिन में 5-6 बादामी ही खाने चाहिए

(Source : Englishji)

निष्कर्ष Conclusion –

दोस्तों! ये था सूखे मेवों यानी dry fruits name in hindi के बारे में हमारा ब्लॉग। आशा करते हैं कि आपको यह ब्लॉग पसंद आया होगा। आगे भी इस प्रकार की जानकारीओं के लिए हमसे जुड़े रहिए धन्यवाद। और अगर पोस्ट अच्छी लगी हो तो सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.